सोमवार, 11 अगस्त 2014

आमिर खान का नग्नत्त्व

चित्र साभारः गूगल
यों तो मेरे मोहल्ले में जित्ते प्रशंसक सलमान खान के हैं, उत्ते ही आमिर खान के भी। मोहल्ले वालो से दोनों खानों की शायद ही कोई फिल्म छूटी हो जिसे उन्होंने न देखा हो। किस फिल्म में किस खान ने क्या कहा, क्या एक्शन दिखाया, कौन-सा गाना गाया और किस हीरोइन के संग रोमांस किया, उन्हें सब मालूम रहता है। यहां तक कि दोनों खानों की जन्मतिथियां भी उन्हें रट हुई हैं, अपनी भले ही याद न रह पाती हों।

अभी पिछले दिनों तक सलमान के प्रशंसक अपने गॉगिल को कॉलर के पीछे लटकाए हर वक्त एक्शन के मूड में रहते थे। और आमिर खान के प्रशंसक बहुत दिनों तक गजनी स्टाइल में चांद घुटवाकर। कुछ ने अपने हाथ और पेट पर किस्म-किस्म के टैटू भी गुदवा लिए थे। मोहल्ले के सियाने बुर्जुग लौंडो के हीरोपंती स्टाइल पर अक्सर बिगड़ते रहते हैं। और शिकायतें कोतवाली तक भी पहुंच जाया करती हैं।

अभी तलक अपनी आदत से न लौंडे बाज आए हैं न सियाने बुर्जुग।

इधर, चार-पांच दिनों से मेरे मोहल्ले के आमिर खान प्रशंसक लौंडो ने एक नया स्टाइल धारण किया है। यह स्टाइल आमिर खान के हालिया रिलीज हुए पोस्टर (फिल्म पीके) जैसा है। जिस लौंडे को देखो वो बिन सोचे-समझे नंगा होकर हाथ में पुराना रेडियो या टेपरिकार्डर थामे रेल की पटरी पर जाकर खड़ा हो जाता है। अब तलक पांच सात लौंडे तो मेरे ही घर आ चुके हैं, पुराना रेडियो या टेपरिकार्डर मांगने। दो ही बचे थे, सो दे दिए।

गजब यह है कि हर लौंडा अपना नंगा (रेडियो या टेपरिकार्डर के साथ) फोटू खींचवाकर फेसबुक या ट्विटर पर चिपका रहा है। यकायक आस-पड़ोस के मोहल्लों की दुकानों में पुराने रेडियो और टेपरिकार्डर की मांग बहुत बढ़ गई है। लोगों ने तो ब्लैक तक करना शुरू कर दिया है।

मोहल्ले के संत-महात्मा व बड़े-बूढ़े आमिर खान स्टाइल इस नंगई को देखकर बेहद खफा हैं। कह रहे हैं- आमिर खान ने बीच पटरी नंगे खड़े होकर लौंडो को नंगा होना सिखा दिया है। समाज में अपसंस्कृति और अश्लीलता फैल रही है। सामाजिक एवं सांस्कृति ताना-बाना नष्ट हो रहा है। लेकिन दीवानगी में डूबे नंगे लौंडो को अब कौन समझाए? हर कोई एक दूसरे से बेहतर नंगा होकर दिखाने की जुगत में लगा हुआ है।

देने वाले तर्क दे रहे हैं कि यह आमिर खान का अपना प्रॉफेशनिलिस्ट स्टाइल है। सुर्खियां पाने का फंडा है। आमिर खान ने इस पोस्टर के बहाने बताया है कि नंगई को भी बेचा जा सकता है। आखिर वे फिल्मकार (अभिनेता) हैं, कुछ भी कर सकते हैं।

किंतु मेरी चिंता आमिर खान का पटरी पर यों नंगे खड़ा होना नहीं है। मेरा तो सवाल बस इत्ता-सा है, कल को अगर पूनम पांडे, सनी लियोनी, शर्लिन चोपड़ा आदि इस स्टाइल में आकर अगर पटरी पर खड़ी होती हैं, तो समाज क्या प्रतिक्रिया देगा? और मेरे मोहल्ले के लौंडे उन्हें किस निगाह से देखेंगे?

कोई टिप्पणी नहीं: